डॉक्टरों के खिलाफ आपत्तिजनक शब्दों का किया इस्तेमाल, मशहूर कॉमेडियन पर दर्ज एफआईआर

नई दिल्ली, सत्यकेतन समाचार। भारत के श्मशानों को जलता देख, हर कोई हैरान-परेशान है. इसी बीच कोरोना मरीज़ों के बढ़ते मामलों को देखते हुए, मशहूर कॉमेडियन सुनील पाल ने डॉक्टरों के खिलाफ एक बयान वीडियो जारी किया था. जिसके बाद, उनपर एफआईआर दर्ज कर दिया गया है.

क्या है पूरा मामला?

दरअसल, अप्रैल महीने में कॉमेडियन सुनील पाल ने एक वीडियो साँझा किया था. जिसमे उन्होंने फ्रंटलाइन स्वास्थ्यकर्मियों के बारे में आप्पतिजनक टिप्पणी की थी. जहाँ उस वीडियो को देख कई लोगों ने अपना समर्थन ज़ाहिर किया तो वहीँ कई लोग आग-बबूले हो उठे. जिसके बाद, सुनील पाल के खिलाफ मुंबई के अँधेरी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करा दी गई. यानि यह कहना गलत नहीं होगा कि, इस बार डॉक्टर्स को लेकर अपनी राय साँझा करना कॉमेडियन सुनील को महंगा पड़ गया। खबर है कि, उस वीडियो में सुनील ने करीब 90 फीसद फ्रंटलाइन डॉक्टर्स और अन्य स्वास्थ्यकर्मियों के लिए चोर और शैतान जैसे अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया था.

क्या बोला था सुनील ने वीडियो में ?

ख़बरों की मानें तो, कॉमेडियन सुनील पाल ने वीडियो में कहा था कि, “आज कोरोना संक्रमितों का इलाज करने वाले कम से कम 90 प्रतिशत डॉक्टर्स चोर, फ्रॉड और शैतान हैं. इतनी गंभीर समस्या में भी वह लोगों को ओवरचार्ज कर लूट रहें हैं. सुना है, डॉक्टर्स कोरोना मरीज़ों के बॉडी के पार्ट्स भी चुरा कर जान ले ले रहें हैं. और तो और जिन्हे कोरोना नहीं है, उन्हें भी फेक पॉजिटिव रिपोर्ट तैयार कर दे रहें हैं. मेरे ख्याल से, इन सभी चीज़ों की एक बार जांच होनी चाहिए।”

डॉक्टर ने दर्ज करवाई एफआईआर

सुनील पाल की उस वीडियो से डॉक्टर्स को काफी आहत पहुंची हैं. जिसके बाद, 4 मई को एसोसिएशन ऑफ मेडिकल कंसल्टेंट के उच्च अधिकारीयों ने सुनील के बयान को झूठा करार करते हुए पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है. सूचना के अनुसार, एसोसिएशन की अध्यक्ष सुष्मिता भटनागर ने एफआईआऱ में लिखवाया है कि स्टैंड-अप कॉमेडियन सुनील पाल ने अपने एक यूट्यूब इंटरव्यू वीडिओ के माध्यम से ईमानदार और चौबीसों घंटे ड्यूटी पर तैनात डॉक्टरों पर आरोप लगाया है.