कोरोना काल में जरूरतमंदों को रोजाना भोजन करा रही है विशालाक्षी फ़ाउंडेशन

नई दिल्ली, सत्यकेतन समाचार। हरियाणा के गुरुग्राम में विशालाक्षी फ़ाउंडेशन के द्वारा कराया जा रहा है। 400 श्रमिक मज़दूरों एवं उनके परिवार को रोज़ाना भोजन। संस्था के संस्थापक निलय अग्रवाल बताते हैं, इस महामारी के दौर में जो तबका सबसे ज़्यादा ग्रसित है वो है प्रवासी श्रमिक मज़दूर, जो अपनी रोज़मर्रा की आमदनी पे निर्भर रहते हैं, लॉकडाउन लगने की वजह से इनकी आमदनी शून्य हो गई है और अपने परिवार को ये एक रोटी मुहैया कराने में भी असमर्थ है।

निलय बताते हैं इस वर्ष पिछले वर्ष की तरह इन श्रमिकों को सहयोग नहीं मिल पा रहा है जिसके कारण ये भूखे सोने को मजबूर हैं, और यही परिस्थिति देखते हुए उन्होंने प्रण लिया है की जब तक चीजें अपनी व्यवस्था में दोबारा नहीं आ जाती है तब तक विशालाक्षी परिवार हर रोज़ 400 लोगों को भरपूर भोजन कराएगा। यही नहीं विशालाक्षी फ़ाउंडेशन अब तक 1000 से ज़्यादा राशन किट्स कई ज़रूरतमंद तक पहुँचा चुकी है और निरंतर पहुँचा भी रही है।

बता दें कि विशालाक्षी फ़ाउंडेशन पिछले दो वर्षों में चार लाख से ज़्यादा लोगों को भोजन करा चुकी है, और नौ शहरों में मौजूद है- जिसमें हैं लखनऊ, बाँदा, आमरोहा, फ़तेहपुर, गुड़गाँव, दिल्ली, नॉएडा, राँची और जयपुर। विशालाक्षी फ़ाउंडेशन से जुड़ने के लिए आप उनके इंस्टाग्राम पेज, या फ़ेस्बुक पेज पे एक मेसिज कर सकते हैं।