Ola & Uber Strike: ओला और उबर टैक्सी के चालकों ने लगाया ब्रेक, हड़ताल पर गए

नई दिल्ली, सत्यकेतन समाचार। सोमवार को, दिल्ली-एनसीआर में ओला और उबर टैक्सी के चालकों ने अपनी गाड़ियों के पहिए पर लम्बा ब्रेक लगा दिया है. खबरों की माने तो, किराया बढ़ोतरी की मांग को लेकर ओला और उबर ड्राइवरों ने हड़ताल करने का निर्णय लिया है. जिसके चलते, राष्ट्रीय राजधानी के कई हिस्सों में कैब एग्रीगेटर सेवाएं बुरी तरह से प्रभावित हुई हैं।

दरअसाल, ओला-उबार चालक चाहते हैं कि आधार किराया कम से कम 100 रुपये तय किया जाए। वर्तमान बेस किराए की बात करें तो अभी यह करीब 30-35 रुपये और 6-7 रुपये प्रति किलोमीटर चार्ज निर्धारित है. वहीँ दूसरी ओर इस हड़ताल के चलने से दैनिक यात्रियों के लिए बड़ी समस्या उत्पन्न हो गई, उन्हें ना चाहते हुए भी ऑटो रिक्शा और मेट्रो की भीड़ में सफर करना पड़ रहा है.

India.com की एक खबर के अनुसार, एक OLA ड्राइवर ने कहा, “हमें 6-7 रुपये प्रति किलोमीटर प्रदान किए जाते हैं जो ऑटो ड्राइवरों को मिल रही तुलना में भी कम है। हम यह विरोध इसलिए कर रहे हैं ताकि कंपनी बेस फेयर में बढ़ोतरी जारी करे और हम तब तक विरोध जारी रखेंगे, जब तक कि हमारे किराए में इज़ाफ़ा नहीं हो जाता है, भले ही हफ्तों लगें लेकिन हम अपना विरोध जारी रखेंगे। ”

सोशल मीडिया पर फूटा लोगों का गुस्सा :
कैब सेवाओं पर भरोसा करने वाले कामकाजी लोगों ने सुबह से सोशल मीडिया पर जम कर गुस्सा उतारा। किसी ने ट्वीट कर लिखा कि, इतनी देर इंतज़ार करने के बाद जा कर कोई कैब मिली, तो किसी का कहना है कि इतनी लम्बी वेटिंग के बाद ट्रिप कैंसिल कर दी गई. किसी ने पोस्ट कर दुखड़ा सुनाया कि. टैक्सी ड्राइवर ने उससे ज़बरन ज़्यादा पैसे की मांग की और किसी की शिकायत है कि ओला-उबर के चक्कर में पड़ कर वे गंतव्य के लिए लेट हो गए.

बता दें, ड्राइवरों की मांग पूरी नहीं होने पर हड़ताल करीब एक सप्ताह तक भी बढ़ सकती है। इसलिए बेहतर होगा कि, कामकाजी लोग अपनी यात्रा के लिए किसी और साधन का इंतज़ाम कर लें.