ऑनलाइन मंच पर लिटिल फ्लावर्स की कैरियर शाला

3 दिवसीय कैरियरशाला में 100 स्कूलों के करीब 10,000 छात्रों ने भाग लिया

नई दिल्ली, सत्यकेतन समाचार। लिटिल फ्लावर्स के छात्र चुनौतियों का सामना करने वाले और सीमाओं से परे जाकर अपने लक्ष्य को प्राप्त करने वाले छात्र हैं। वरिष्ठ छात्र जीवन के एक मोड़ पर आकर अपने कैरियर के प्रति दुविधा में फंस जाते हैं। छात्रों और उनके अभिभावकों की परेशानी को दूर करने के लिए लिटिल फ्लावर्स ग्रुप ऑफ़ स्कूल ने अपने विशाल ऑनलाइन मंच पर तीन दिवसीय (31 मई से 2 जून) तक कैरियर शाला का आयोजन किया। जिसके अंतर्गत 9वीं से 12वीं कक्षा तक के छात्रों का मार्गदर्शन किया गया।

दिल्ली और एनसीआर से जुड़े 100 स्कूलों के लगभग 10,000 बच्चों ने इस कैरियर शाला का लाभ उठाया। इसके द्वारा छात्रों को विभिन्न विषयों और उनसे जुड़ी तकनीकी जानकारियों से अवगत कराया गया। सत्र के प्रारंभ में विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती नीता दुआ एवं मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आर.डी .पटेल ने छात्रों को प्रेरित करते हुए कहा कि किसी भी कैरियर को चुनने से पहले अपनी प्रतिभा, क्षमता और अपनी रुचियों को जानना आवश्यक है।

इस विषय में छात्रों को कैरियर का निर्णय लेने में मदद करने के लिए एन. पी. ओ. सी. ए (कैरियर गाइडेंस फाउंडेशन) ने इंटरनेशनल बिजनेस मशीन कॉरपोरेशन (आई.बी.एम) के साथ मिलकर विषय के जानकारों श्री अरुण मित्तल (फाउंडर ऑफ एन. पी.ओ.सीए) श्री तरुण और श्री कपिल नौदियाल (चीफ आर्किटेक्ट डिजिटल टेक्नोलॉजी टी.सी.एस) की सहायता से छात्रों का मार्गदर्शन किया। विशेषज्ञों ने भविष्य में आने वाले विभिन्न व्यवसायिक क्षेत्रों जैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (ए.आई) सोशल मीडिया इनफ्लुएंसिंग, पॉडकास्टिंग के बारे में छात्रों को जानकारी दी। उन्होंने छात्रों को कैरियर का निर्णय लेने से पहले अपनी क्षमता ,रुचि और व्यक्तित्व के विषय में गहराई से छानबीन करने के महत्व को बताया।