गफ्फार मार्किट के दुकानदारों को खाली कराने से पहले दिया जाए वैकल्पिक स्थान : मुकेश गोयल

Congress candidate list: Mukesh Goyal gets ticket from Adarsh Nagar

नई दिल्ली, सत्यकेतन समाचार। उत्तरी दिल्ली निगर निगम में काँग्रेस दल के नेता एवं वरिष्ठ पार्षद मुकेश गोयल ने स्थायी समिति अध्यक्ष जोगीराम जैन के उस बयान पर कड़ी आपत्ति जतायी है, जिसमें उन्होंने कहा है कि गफ्फार मार्किट में दुकानों को खाली कराने का फैसला बी.जे.पी. के नेता करेंगे। उन्होंने कहा कि नगर निगम के संवैधानिक फैसले निगम के सदन और स्थायी समिति की बैठकों में लिए जाते हैं, नाकि किसी पार्टी के कार्यालय में बैठकर।

गौरतलब है कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम की स्थायी समिति के अध्यक्ष जोगीराम जैन ने सोमवार को बयान दिया है कि सरस्वती मार्ग स्थित एम.सी.डी. मार्किट के दुकानदारों को तीन दिन का नोटिस दिए जाने के बाद दस दिन का समय दिया गया है। इन दस दिनों में बीजेपी के नेता जैसा कहेंगे वैसा ही फैसला लिया जायेगा।

मुकेश गोयल ने कहा कि करोलबाग के सरस्वती मार्ग पर स्थित एम.सी.डी. मार्किट को खाली कराने से पहले दुकानदारों को वैकल्पिक स्थान दिया जाना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि इस पूरे मामले में बी.जे.पी. नेताओं के भ्रष्टचार की बू आ रही है। आश्चर्य की बात है कि पहले दबाव बनाने के लिए दुकानदारों को तीन दिन में दुकान खाली कराने के नोटिस जारी किए गए और इसके बाद उन्हें दस दिन का समय देकर मामले को सुलझाने की बात कही जा रही है।

मुकेश गोयल ने आगे कहा कि एक तरफ अधिकारी सर्वे के आधार पर पूरी बिल्डिंग को खतरनाक बता रहें हैं और दूसरी और बीजेपी के नेता दस दिन का समय देकर दुकानदारों पर नाजायज दबाव बना रहे हैं। उन्होंने एम.सी.डी. मार्किट के बारे में निगम आयुक्त से मांग की है कि वह दुकानदारों को सही स्थिति बताएं और उन्हें किसी भी कार्रवाई से पूर्व उन्हें अपना व्यापार करने के लिए वैकल्पिक स्थान उपलब्ध कराया जाए।